220 वोल्ट और 440 वोल्ट में क्या अंतर है ? कैसे मापा जाता है इन वोल्ट्स को ?

 220 वोल्ट और 440 वोल्ट में क्या अंतर है ? कैसे मापा जाता है इन वोल्ट्स को ?


दोस्तों आप अपने घर ही में बिजली के उपयोग सामान्य रूप से तो करते ही हैं । आप किसी भी उपकरण को चलाने के लिए मुख्यतः फेज़ और न्यूट्रल वायर का उपयोग करते हैं, जिसमें सामान्य वोल्टेज 220 से लेकर 250 के अंदर होती है । ऐसे में आपके मन में एक सवाल यह उठ सकता है कि जब हमें 220 से 250 वोल्ट की सप्लाई दी जाती है तो फिर यह आखिर 440 वोल्ट क्या है ? कैसे प्राप्त कर सकते हैं ? मापनेे का सही विधि क्या है ?

जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे सभी यंत्र 220 वोल्ट से नहीं चल सकते । कुछ ऐसे भी यंत्र या उपकरण होते हैं जैसे मोटर इत्यादि जो हाई वोल्टेज पर ही चल सकते हैं । पर हम इस हाई वोल्ट को प्राप्त कैसे कर सकते हैं ? 

दोस्तों हम हाई वोल्ट को प्राप्त करने के लिए मुख्य रूप से फ़ेजो का इस्तेमाल करते हैं । जैसा कि दोस्तों हम जानते हैं कि हमारे मोहल्ले या शहरों में लगे ट्रांसफार्मर से हमें तीन फेज़ और एक न्यूटन प्राप्त होता है । और इन्ही 3 फ़ेजो में से हम अगर किन्ही दो फ़ेजो को उपयोग में लें तो आप हाई वोल्टेज की प्राप्ति कर सकते हैं ।

इसे ज्यादा स्पष्ट समझने के लिए हम एक उदाहरण लेते हैं जैसे मान लेते हैं कि हमारे ट्रांसफार्मर पर आ रहे फ़ेजो में से किसी एक फेज़ में वोल्टेज का मान 220 है, ऐसे में बहुत लोग यह सोचते हैं कि अगर हम दूसरा फेज़ को भी उपयोग  मे ले लें तो हमें 220 का दोगुना यानी 440 वोल्ट प्राप्त हो जाएगा । पर ऐसा नहीं है ! 

दरअसल दोस्तों अगर हमें किसी फेज़ से 220 वोल्ट की प्राप्ति हो रही है तो वह हमें फेज़ और न्यूट्रल से प्राप्त हो रही है । और वही अगर हमें 220 वोल्ट के ऊपर का वोल्टेज चाहिए तो वह हमें दो फ़ेजो से प्राप्त होती है यानी इसमें न्यूटन को शामिल नहीं किया जाता है । 

■ वोल्टेज की सही गणना कैसे कर सकते हैं ?

दोस्तों अगर आपको किसी दो फ़ेजो के बीच के वोल्टेज का मान जानना है तो उसके लिए आपको किसी एक फेज़ के वोल्टेज का मान पता होना चाहिए । जैसे हम यहां यह मान लेते हैं कि हमारे 1 फेज़ में 220 वोल्ट आ रहा है । ऐसे में अगर हम फेज टू फेज वोल्टेज निकालना चाहे तो हमें प्राप्त वोल्टेज मे √3 का गुणा करना होगा । यहां हम आपको यह भी बताते चलें दोस्तों की √3 का मान 1.732 होता है । उदाहरण -

  • 220 × √3
  • 220 × 1.732
  • 381.04 v

अतः हमें फेज़ टू फेज़ यानी 2 फ़ेजो के बीच के वोल्टेज का मान 381 वोल्ट के आसपास प्राप्त होगा । ( अब यहां आप यह सोच सकते हैं कि आखिर हमने यहां √3 का गुणा क्यों किया । दोस्तों अगर आप यह जानना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके बताएं हम इसके ऊपर एक अलग पोस्ट बनाने की कोशिश करेंगे ) 

फिलहाल दोस्तों आप अभी के लिए यह समझ लें कि हमें कभी भी फेज़ टू फेज़ वोल्टेज निकालने के लिए प्राप्त वोल्टेज में से √3 का गुणा करना आवश्यक होता है ।

नोट -

● जब भी हम किसी एक फेज़ और न्यूट्रल के बीच वोल्टेज को चेक करते हैं तो ऐसे में इन दोनों के बीच चेक करने पर प्राप्त हुए वोल्टेज को हम फेज़-वोल्टेज कहते हैं ।

● और हम जब किसी दो फ़ेजो के बीच वोल्टेज को चेक करते हैं तो ऐसे में दोनों फ़ेजो पर चेक किए जाने वाला वोल्टेज को हम लाइन-वोल्टेज कहते है ।


Previous
Next Post »